मोटापा होने का कारण [The reason for obesity]

कारण- खाने में चिकनाई की अधिकता या  परिवारिक परम्परागत  कारणों से मोटापे का रोग पैदा हो जाता है जिसकी पहचान रोगी के पेट ,कमर और उसके नीचे के भागो की मांसपेशियों और त्वचा के बीच चिकनाई का अधिक मात्रा में जमा हो जाना है इसी को मोटापा कहते हैं मधुमेह होने के पहले भी मरीज के मोटा होना से वजन बढ़ने लगता है भोजन में परहेज  ना करने और शारीरिक परिश्रम ना करने से भी यह बीमारी हो सकती है वजन बढ़ने के कारण सामान्य कामकाज में दिक्क्त  उत्पन्न हो जाता है पेट के बढ़ने के कारण कमर में तथा साधारण शारीरिक भाग बढ़ने के कारण पैरों के जोड़ों में दर्द पैदा हो जाता है इस दशा में निम्नलिखित औषधि का प्रयोग अत्यंत लाभकारी है।

ये भी पढ़े :-दिल की बीमारियां[Diseases of the Heart]

स्फूफ  मुहज्जिल- यह पाउडर मोटापा कम करता है निरंतर उपयोग से वजन धीरे-धीरे कम होने लगता है इस प्रकार रोगी का भार सामान्य हो जाता है।

सेवन विधि- 5 ग्राम औषधि सुबह गुनगुने पानी से ले।

नोट- उपरोक्त वर्णित औषधि के अतिरिक्त अर्क  जीरा ,अर्क चिरायता और अर्क अजवाइन और खूनशीरी का प्रयोग भी लाभदायक है।

*चिकित्सक के परामर्श के बिना उपरोक्त औषधियों का सेवन ना करें।

ये भी पढ़े :-डायबिटीज “मधुमेह” की हिस्ट्री [History of Diabetes]

ये भी पढ़े :-डायबिटीज के प्रकार[Type Of Diabetes]

ये भी पढ़े :-डायबिटीज के उपचार आहार व्यवस्था एवं सावधानियां

27Shares
http://health.ktnewslive.com/wp-content/uploads/2018/03/lose-belly-fat.jpghttp://health.ktnewslive.com/wp-content/uploads/2018/03/lose-belly-fat-150x150.jpgAdminWeight Lossweight lossमोटापा होने का कारण कारण- खाने में चिकनाई की अधिकता या  परिवारिक परम्परागत  कारणों से मोटापे का रोग पैदा हो जाता है जिसकी पहचान रोगी के पेट ,कमर और उसके नीचे के भागो की मांसपेशियों और त्वचा के बीच चिकनाई का अधिक मात्रा में जमा हो जाना है इसी को मोटापा कहते हैं मधुमेह होने के...ktnl